Thursday, April 3, 2008

ब्रेकिंग न्यूज़ !!

खबरिया चैनल में लगता है खबरों की दरिद्रता है तभी तो ये हाल है, आखिर मीडिया का स्तर जा कहाँ रहा है?
नाटक था जिसमें किसी का कुत्ता खो जाता है,और कुत्ते के पीछे पूरा नाटक भागता है, यहाँ उसी खोये कुत्ते को आखिरकार चैनल वालों ने खोज निकला, बानगी के लिये देखिये नीचे की तस्वीर.......ये क्या हो रहा है?


ऐसी खबरों को ब्रेकिंग न्यूज़ कहेंगे ?
कुत्ते के बारे में जानकारी देते समाज के वॉच डॉग (चित्रानुसार हिन्दी अनुवाद स्वंय कर लें)

15 comments:

maithily said...

विमल साहब यदि आप इस खबर को दो दिन पहले देते तो समझता आप अप्रेल फूल बना रहे हैं.
लैला प्यारी तो लैला की कुतिया भी प्यारी. कमिश्नर का ठसका टीवी वालों पर क्यों न चले?

उम्दा सोच said...

विमल भाई गनीमत है खबरियों को सिर्फ़ गुम कुत्ते का पता चला वर्ना उस दिन कमिश्नर साहब की आँत से एक केचुआ भी गायब हो गया था,अबतक मिला या नही इसकी जानकारी नही है!

संजय तिवारी said...

कुत्ते कुत्ते के बारे में संवेदनशील तो रहेंगे ही. बिरादरी का मसला है.

संजय तिवारी said...

उसे ब्रेकिंग न्यूज न बनाएं तो उन्हें खुद बुरा लगेगा.

Pramod Singh said...

मेरा भी खोया है पता नहीं कुत्‍ता है या क्‍या है.. लेकिन देख रहा हूं घण्‍टा उसके बारे में कोई बात नहीं कर रहा..

Kirtish Bhatt, Cartoonist said...

इन्ही हरकतों कि वज़ह से लोगों ने इन खबरिया चेनलों को देखना ही बंद कर दिया है. ये न्यूज़ चैनल अब तभी चर्चा में आते हैं जब अपनी बेवकूफियों कि वज़ह से ख़ुद ही न्यूज़ बन जाते हैं.

Aflatoon said...

कुक्कुर - प्रहरी ?

राज भाटिय़ा said...

चाप्लुसी ओर चम्चागिरी पहले लोग नजर बचा कर करते ओर करवाते थे, अब शर्म बिक गई,या रही ही नही इन के पास सो.. अब टीबी पर सारेआम करे ओर करवाये गे करलो जो करना हे,

ajai said...

खबरिया चैनल और कुक्कुर दोनों का स्वभाव एक है
ज़रा सी आहट पर एक भौं भौं करता है तो दूसरा जरा सी ख़बर पर चों चों करता है .एक चैनल तो ब्रेकिंग न्यूज़ नाम से पूरा एक प्रोग्राम ही चलाता है .कौन सी ख़बर अहम् है इससे इन्हे कोई मतलब नही हाँ किस्से संबंधित है इसका ध्यान ये जरूर देते हैं . इनकी भी पुँछ सीधी नही हो सकती

सागर नाहर said...

हमें तो टिप्पणीयां पढ़ कर ही मजा आ गया ... :)

इरफ़ान said...

kal ko bhaaee aapkaa kuttaa khoye to uskee breaking news aap na chaahenge?

Tarun said...

जिसकी जैसी सोच उसकी वैसी ब्रेकिंग न्यूज, शुक्र है इस ब्रेकिंग न्यूज देने के लिये चैनल वालों ने एक इंसान को ही चूना।

विमल जी, कंट्रोल पैनल को साईडबार में जगह देने के लिये धन्यवाद, लेकिन आपने साईट की जगह पर पोस्ट का लिंक दिया हुआ है।

Rajesh Roshan said...

Shame!!

Babita said...

mai bhi aap se poori tarah sehmat hu, pata nahi in khabairya chennalo ka star abhi kitna aur girega....

munish said...

इन चैनल्स को लाइसेंस देते वक़्त कहा गया था के अब भारत का प्राइवेट मीडिया बीबीसी को टक्कर देगा ! अब कुक्कुर तो दे ही रहा है !! भोंदूपन के नमूने हैं ये !