Saturday, January 26, 2008

पंचमी के जन्म दिन पर

गुज़रे पच्चीस जनवरी को मेरी बेटी पंचमी का जन्मदिन था,वैसे उसके जन्मदिन को पंचमी के स्कूल ने कुछ विशेष बना दिया था कि स्कूल का पिकनिक इस दिन साइलेन्ट रेसॉर्ट गया था खूब धींगा मस्ती में दिनभर वो हम से जुदा हमसे दूर पिकनिक मना रही थी,और हम हमेशा की तरह अपने ऑफ़िस में अपनी दिहाड़ी पर थे,हां शाम को ज़रा जल्दी पहुंचकर उसे स्कूल से लेकर आए,दिन भर की थकान उसके चेहरे पर दिखाई भी नहीं दे रही थी,उसे अच्छा लग रहा था कि सारे बच्चों को स्कूल की तरफ़ से उसके जन्मदिन की जानकारी दे दी गई थी, उसने बताया कि जब सब उसे विश कर रहे थे तो उसे बड़ा अजीब भी लग रहा था,


25012008188
हम तो पंचमी को पंचमी के नाम से बुलाते है पर पंचमी दानिया कहलाना ज़्यादा पसन्द करती हैं
पंचमी हफ़्ते पर पढने के अलावा दो दिन कथक सीखने में भी लगाती है और हफ़्ते में दो दिन जिम्नास्टिक भी सीखने जाती हैं, सबसे बड़ी समस्या पंचमी की ये है कि वो अपना जन्मदिन तीन तारीखों में मनाती हैं, पंचमी पैदा तो हुई बसंत पंचमी के दिन २५ जनवरी ९६ को मुम्बई में पर मुम्बई नगर महापालिका के सर्टिफ़िकेट के हिसाब से उसका जन्म २६ जनवरी को पड़ता है, इसका भी एक किस्सा है जो आज कम से कम पंचमी के लिये दर्ज़ कर देना चाहता हूँ,


IMG0334A

हुआ ये कि जब मैं सर्टिफ़िकेट लेने महापालिका के दफ़्तर पहुँचा तो एक महापालिका के एक कर्मचारी ने मुझे शर्मसार करते हुए कहा ’कमाल के आदमी हो आपकी बेटी २६ जनवरी को पैदा हुई और आप कह रहे है २५ को पैदा हुई ये कैसे हो सकता है मै कहे जा रहा था कि भाई मैं अच्छी तरह जानता हूँ कि वो २५ जनवरी को ही पैदा हुई है, पर वे इस बात को मानने को तैयार नहीं थे मै ने कहा अरे भाई बहुत पहले डॉक्टर ने ही दी थी २५ तारीख बताया था और उसी दिन यानि २५ जनवरी को उसका जन्म हुआ इसमें मै कम से कम गलत नहीं हूँ, पर महापलिका वाले मानने को तैयार हुए तभी एक आवाज़ आई कि कुछ पैसा खर्च करिये तो सही तारीख का सर्टिफ़िकेट मिल जाएगा और मैं था कि एक पैसा भी ऊपर से देने तैयार नहीं था और अन्त में झक मार कर मै २६ जनवरी वाला सर्टिफ़िकेट लेकर चला आया, अब पंचमी दो दिन तक अपना जन्म दिन मनाती है,मतलब २५ तारीख जो उसका असल जन्म दिन पड़ता है और दूसरा २६ जनवरी जिस दिन स्कूल में छुट्टी रहती है,और पंचमी की दादी और नाना बसंत पंचमी को असली जन्मदिन समझकर उसे हर साल बधाई देते है अब बताइये पंचमी करे क्या ?वैसे मेरे जन्म दिन को लेकर कोई घाल मेल नहीं है एक मसला ये भी है कि मै अपना जन्म दिन बहुत साधारण तरीके से बासी खीर खा खिला कर मनाता हूँ, पंचमी के बर्थ डे पर केक काटकर पंचमी के लिये विशेष बनाने की कोशिश करते हैं, आज बेटियों के ब्लॉग को देखकर मुझे पंचमी का भी खयाल आया और उसके जन्म दिन के बारे में सोचा आपसे अपने अनुभव बाटूँ और साथ साथ आपके लिये पंचमी की तरफ़ उसकी पसन्द का एक वीडियो भी दिखना चाहता हूँ जो पंचमी को बेहद पसन्द है आप भी देखिये..... love 2008

13 comments:

anitakumar said...

पंचमी बिटिया को जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएं

Manish said...

हा हा हा,भाई ये तो बहुत कुछ अपना किस्सा भी हो गया है। जन्म हुआ मकर संक्राति वाले दिन यानि १४ जनवरी, हाईस्कूल का फार्म भराने वालों ने उसे ११ जनवरी को कर दिया तो अब आफिस के नोटिसबोर्ड पर ११ को ही जन्मदिन दर्ज हो जाता है और अब इस साल से ये संक्रांती भी १५ को खिसक गई है यानि त्योहार के हिसाब से लोग इस दिन भी मिठाई के लिए खिंचाई करने लगे हैं

दानिया को जन्मदिन की बधाई पहुँचा दीजिएगा मेरी जानिब से।

अजित वडनेरकर said...

पंचमी को जन्मदिन पर शुभाशीष। बेटियों के ब्लाग पर भी आपको देखा और फिर सफर में आपकी शिरकत का अहसास हुआ । अब आपसे मुखातिब हैं हुजूर।
बासी खीर तो हमें भी खूब पसंद है । अक्सर फ्रिज में बचा कर रख देते हैं पर अबीर (साहबजादे) बचने नहीं देते, सुड़क जाते हैं।

Sanjeet Tripathi said...

पंचमी को हमारी भी बधाई व शुभकामनाएं पहुंचे!!

@मनीष भाई हम भी हैं 14 जनवरी वाले

Lavanyam - Antarman said...

पंचमी नाम पसंद आया उसे साल गिरह के दिन के लिए ( ३ ही सही :) अभिनन्दन व आशीष --
मनीष भाई व संजीत भाई को भी "belated Happy Birth Day * Manny Manny More

yunus said...

पंचमी को जन्‍मदिन की शुभकामनाएं । अच्‍छी पोस्‍ट

अनूप शुक्ल said...

पंचमी बिटिया को जन्मदिन की बधाई। देर-अबेर से कोई फ़र्क नहीं पड़ता। :)

इरफ़ान said...

पंचमी को हमारी बहुत-बहुत सारी शुभकामनाएं.

Parul said...

bitiyaa ko dher saari shubkaamnaaye...

mamta said...

पंचमी को जन्मदिन की ढेर सारी बधाई और शुभकामनाएं।

अरे पंचमी को तो अपने तीनों तारीख को जन्मदिन मनाना चाहिऐ और तीन बार उपहार भी लेने चाहिऐ। :)

विकास कुमार said...

mujhe kahne me der ho gayi. lekin phir bhi. meri taraf se cake ka tukda udhaar rahega. kabhi miloonga to gift bhi de hi doonga. ;)

बोधिसत्व said...

पंचमी बिटिया को जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएं

जोगलिखी संजय पटेल की said...

पाँचवा सुर लगे बिना कोई बात सुरीली नहीं होती. बहुत दिनो बाद ही सही पं च मी को हमारी प्यार भरी दुआएँ....बेटी बहुत कमाओ न कमाओ....बहुत नाम करो न करो (भगवान चाहेगा तो दोनो होगा ) लेकिन अच्छी इंसान ज़रूर बनना अपने पापा की तरह...

तुमको हमारी उमर लग जाए...पंचमी.

तुम्हारा संजय चाचू