Sunday, May 3, 2009

सचिन दा की आवाज़ आज भी हमारे इर्द-गिर्द गूंजती है.........


चिन देव बर्मन बेहतरीन संगीतकार तो थे ही पर उससे भी बेहतर उन्होंने अपनी आवाज़ का खूबसूरती से प्रयोग किया था,उनके गाये सभी गीत सीधे आपके दिल से तादात्म्य स्थापित कर लेते थे, दादा की आवाज़ में गज़ब की कशिश थी जिसे बीस तीस पचास साल भी आप भुला नहीं सकते ये मैं दावे के साथ कह सकता हूं ,तो कुछ रचनाएँ इधर उधर से इकट्ठा की हैं मैंने,इनमें से कुछ गीतों कों तो कभी कदास रेडियो टीवी पर सुन तो लेते हैं पर यहाँ आप पूरे सुकून से सुन सकते है। सचिन देव बर्मन के बारे में कुछ ज़्यादा जानना चाहते है तो यहाँ क्लिक करके जान सकते है।

यहाँ सचिन दा की गाई रचनाएँ हैं जो गाइड,अराधना,बन्दिनी,सुजाता,तलाश और ज़िन्दगी-ज़िन्दगी फ़िल्म से है।

Powered by eSnips.com

2 comments:

अजित वडनेरकर said...

बेहतरीन...सभी रचनाएं कालजयी हैं और हमें पसंद हैं...

sonali said...

Awesome list...thanks a ton.
Today I received my grades and was very happy...to my utter surprise, in my happiness, I was humming Kahe ko roye...and coincidently I visited your blog after a long gap and lo, here you posted the same song!! It was wonderful listening to it...great singer, greater composer!!!
Thanks once again Vimalji for posting such beautiful songs...